Life status in hindi

Life Status in Hindi

Here Are More Life Stats in Hindi:

कुछ बातों के मतलब हैं, और कुछ मतलब की बातें, जब से फर्क समझा, जिंदगी आसान

कहते है पीनेवाले मर जाते है जवानी में हमने तो बुजुर्गों को जवान होते देखा है मैखाने में..

कितना और बदलूँ ख़ुद को जीने के लिए ऐ ज़िन्दगी, थोड़ा सा तो मुझको मुझमें बाक़ी रहने दे..

हाथ में टच फ़ोन, बस स्टेटस के लिये अच्छा है, सबके टच में रहो, जींदगी के लिये ज्यादा अच्छा है..

उलझने क्या बताऊँ अब मैं जिंदगी की, तेरे ही गले लगकर तेरी ही शिकायत करनी..

जानता हूँ, लिखना नहीं जानता फिर भी ज़िन्दगी तुम्हारे नाम लिख दी है..

शौक भी खत्म हो गया जिंदगी जीने का, अब क्या मरने के बाद यकीन करोगे हमारी चाहत पर..

ये मत कहो ख़ुदा से मेरी मुश्किले बड़ी हैं, ये मुश्किलों से कह दो मेरा ख़ुदा बड़ा है।

कागज़ पर रख कर खाना खाये तो भी कैसे, खून से लथपथ आता है अखबार आजकल..

तकदीरें बदल जाती हैं, जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो; वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है ‘तकदीर’ को इल्ज़ाम देते देते..

सबसे खफा हो जाना, मगर उससे खफा ना होना; जिसका जहां में तुम्हारे सिवा कोई और ना हो..

हौंसलों का सबूत देना था,इसलिए ठोकरें खाकर मुस्कुरा पड़े।

खफा नहीं हूँ तुझसे ” ए-जिंदगी” बस जरा दिल लगा बैठा हूँ इन उदासियों से..

कोशिशें की समझदार बनने की.. लेकिन खुशियाँ बेवकूफियों से ही मिली..

ज़िंदगी तो बेवफा है, एक दिन ठुकराएगी, मौत एक सच्ची महबूबा है, एक दिन ज़रूर आएगी..

जी खोल कर नाचा 🕺 वो फकीर, मैने 👦 सिर्फ इतना पुछा था कि जिँदगी 🌍 क्या है !!

अगर इतनी नफरत है मूझसे, तो कोई ऐसी दुआ कर की.तेरी दुआ भी पुरी हो जाए, और मेरी जिंदगी भी..

भले थे तो किसी ने हाल त़क नहींपूछा, बुरे बनते ही देखा हर तरफ अपने ही चरचे हैं..

जीवन लम्बा होने की बजाये महान होना चाहिए।

मेरे सजदे की दुआएँ तुम क्या जानो हमदम, सर झुका तो तेरी खुशी माँगी हाथ उठे तो तेरी जिँदगी..

दिल‬ खोल कर इन लम्हो को जीलो यारो, जिंदगी‬ अपना ‪इतिहास‬ फिर नही दोहरायेगी..

ताश के पत्तो में इक्का और जिंदगी में सिक्का, जब भी चलता हे दुनिया सलाम करती हे।

जो पागलपन की हद से न गुजरे वो प्यार कैसा, होश में रह कर तो रिश्ते निभाये जाते हैं गालिब..

अगर कसमें सच्ची होतीं, तो सबसे पहले खुदा मरता..

मेरी जिंदगीमे खुशिया, तेरे बहाने से हैं आधी तुझे सताने से हैं, आधी तुझे मनाने मे है..

जिन्दगी में जिन्दगी से हर चीज मिली, पर उसके जाने के बाद जिन्दगी न मिली..

कुछ इस तरह सौदा किया वक्त ने मुजसे, की तजुर्बा दे कर वो मेरी मासुमियत ले गया..

जिंदगी ‪‎जीने‬ में थोडा ‪‎उलझ‬ गया हुं ‪‎पगली, जिस दिन तेरा ये ‎Hero ‪‎उपर‬ के 2 ‪‎Button‬ खोल कर ‪‎बाहर‬ निकलेगा, ‪‎मां कसम‬ तहलका मच जाएगा..

जरूरतें भी जरूरी हैं, जीने के लिये लेकिन, तुझसे जरूरी तो, जिदगी भी नही..

मत सोच ऐ दोस्त इतना जिन्दगी के बारे में, जिसने जिन्दगी दी है उसने भी तो कुछ सोचा होगा..

महसूस जब हुआ कि सारा शहर मुझसे जलने लगा है, तब समझ आ गया कि अपना नाम भी चलने लगा है..

वो मंज़िल ही बदनसीब थी जो हमें पा ना सकी, वरना जीत की क्या औकात जो हमें ठुकरा दे..

कोई इल्जाम रह गया हो, तो वो भी दे दो, हम पहले भी बुरे थे, अब थोड़ा और सही..

खून अभी वो ही है, ना ही शोक बदले ना ही जूनून, सून लो फिर से, रियासते गयी है रूतबा नही रौब ओर खोफ आज भी वही..

खोने की दहशत और पाने की चाहत न होती, तो ना ख़ुदा होता कोई और न इबादत होती।

ज़िन्दगी मुझे तब तब खूबसूरत लगती है, ऐ जान तुम जब जब मेरे साथ होती हो..

तूफ़ान आना भी ज़रूरी होता है ज़िन्दगी में तभी पता चलता है कौन हाथ पकड़ता है और कौन साथ छोड़ जाता है।

मशगुल थे सब अपनी ज़िन्दगी में, ज़रा सी जमीन क्या हिली सबको खुदा याद आ गया..

मंजिल तो मिल ही जाएगी भटक के ही सही; गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं!

संघर्षो में यदि कटता है तो कट जाए सारा जीवन, कदम-कदम पर समझौता मेरे बस की बात नहीं

तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है, पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है..

हाथो की लकीरों को हम बदलेंगे, ईश्क मे तकदीरो को बदल देगे, अगर साथ मीले जो आपका, हम आपकी जिदगी बदल देगे..

भरा है ये दिल इस कदर ख़्वाहिशों से, ज़रा सी जगह को तरसते हैं रिश्ते..

ज़िंदगी इक आँसुओं का जाम था, पी गए कुछ और कुछ छलका गए..

उसने चुपके से मेरी आँखों पर हाथ रखकर पूछा, बताओ कौन, मैं मुस्कुराकर धीरे से बोला ” मेरी जिन्दगी”..

ज़िन्दगी के हाथ नहीं होते, लेकिन कभी कभी वो ऐसा थप्पड़ मारती हैं, जो पूरी उम्र याद रहता है..

मुझ को भी हक़ है ज़िंदगानी का, मैं भी किरदार हूँ कहानी का..

सीढिया उन्हे मुबारक हो जिन्हे छत तक जाना है, मेरी मन्जिल तो आसमान है रास्ता मुझे खुद बनाना है..

अब तो उदासियो मेँ जिने की आदत बन गयी है, हो गये गैर वो लौग जो कभी अपने हुआ करते थे..

ज़िंदगी, तुझ पर बहुत, ग़ौर किया मैंने, तू रंगीन ख़यालों के सिवा, कुछ भी नहीं..

कौन कहता है की ज़िन्दगी बहुत छोटी है, सच तो ये है की हम जीना ही देर से शुरू करते हैं..

क्या बेचकर हम तुझे 💶 खरीदें ऐ 🌍 ज़िन्दगी, सब कुछ तो गिरवी 🤦 पड़ा है, ज़िम्मेदारी 😨 के बाज़ार में ।।

ये जिदंगी तमन्नाओं का गुलदस्ता ही तो हैं, कुछ महकती हैं, कुछ मुरझाती हैं और कुछ चुभ जाती हैं..

ज़िन्दगी जिन्हें ख़ुशी नहीं देती उन्हें तज़ुर्बे ज़रूर देती है।

गुजर गया वक्त जब हम तुम्हारे तल्बगार थे, अब जिंदगी बन जाओ तो भी हम कबूल नही करेंगे..

उम्रकैद की तरह होते हैं कुछ रिश्ते, जहाँ जमानत देकर भी रिहाई मुमकिन नहीं..

जब वक़्त करवट लेता हैं ना दोस्तों, तो बाजियाँ नहीं, जिंदगियाँ पलट जाती है..

कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र; खुदा ने मरना हराम किया लोगों ने जीना!

जस्न-ए-ज़िदगी में तो सभी हसते हे एय दोस्त, लेकिन जिगर चाहिए तन्हाईयों में मुस्कुराने का..

सिखा दिया दुनिया ने मुझे, अपनों पे भी शक करना, मेरी फितरत में तो था, गैरों पे भरोसा करना..

जीवन मैं एक बार जो फैसला कर लो तो फिर पीछे मुड़कर मत देखना क्योंकि पलट कर देखने वाले इतिहास नहीं बनाते।

वो लोग भी चलते है आजकल तेवर बदलकर, जिन्हे हमने ही सिखाया था चलना संभल कर..

अजीब चलन है दुनिया का; दीवारों में आये दरार तो दीवारें गिर जाती हैं; पर रिश्तों में आये दरार तो दीवारे खड़ी हो जाती हैं..

लगता था ज़िन्दगी को बदलने में वक़्त लगेगा, पर क्या पता था बदलता हुआ वक़्त ज़िन्दगी बदल देगा..

इंसान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले और परिंदे सोचते है कि रहने को घर मिले।

यहाँ सब वक़्त गुज़ार कर चले गए अपना मेरे साथ.. और जब मेरी बारी आई तो मसरूफ हो गए गैरों में..

जिसके पास उम्मीद है वो लाख बार हार कर भी नहीं हारता..

सिखा दिया है जहां ने हर 👉 जख्म पर 😁 हंसना, ले देख 👀 जिंदगी अब हम 👨 तुझसे नहीं डरते..

जिंदिगी जीने का कुछ ऐसा अन्दाज़ रखो, जो तुमको ना समझे, उन्हें नज़रंदाज रखो..

ज़िन्दगी की वकालत नही चलती, फैसले जब आसमां से होते हैं..

बस ग़मों को गुमराह कर दो, खुशियाँ खुद लौट आएँगी।

तकदीर के रंग कितने अजीब है, अनजाने रिश्ते है फिर भी करीब हैं..

जिंदगी मजदूरी 🛣 करते हुई गुजर रही हैं, और लोग 👨‍ सेठ कहकर ताने 😎 मार रहे हैं !!

ऐ ज़िन्दगी, तू हर किसी को यू ही आजमाती है, या मैं तुझे औरों से ज्यादा अजीज हूँ..

मालूम सबको है, जिंदगी बेहाल है, लोग फिर भी पूछते है क्या हाल है..

कर्म तेरे अच्छे हे तो किस्मत तेरी दासी है, नियत तेरी अच्छी है तो घर तेरा मथुरा कशी है..

शायरी तो दिल की बात है, होठों पे आये तो बाड़ी खास है, और दिल मे रहे तो सब बकवास है.

तकदीरें बदल जाती हैं, जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो; वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है तकदीर को इल्ज़ाम देते देते!

नादान लोग ही जीवन का मज़ा लेते हैं, समझदारों को तो हमने हमेशा मुश्किलों में ही देखा है।

रिश्ते जलकर भी राख नहीं होते, बस सुलगते रहते हैं।

ज़िन्दगी 😍 को नरक 👎 बोलने वाले, कभी किसी गरीब 🤕 को अपने पास बैठाकर 👬 पूछना ज़िन्दगी क्या है..

सुना है तुम्हारी एक निगाह से कत्ल होते है लोग, एक नज़र हमको भी देख लो अब ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती..

हौसलें हो अगर बुलंद तो मुट्ठी में हर मुकाम है, मुश्किलें और मुसीबतें तो जिंदगी में आम हैं..

वक़्त छीन लेता है बहुत कुछ, खैर मेरी तो सिर्फ मुसकराहट थी..

कईं रोज से कोई नया जखम न दिया पता करो सनम ठीक तो है न।

शिकवा तकदीर का ना शिकायत अच्छी, खुदा जिस हाल मे रखे वही जिंदगी अच्छी..

गुज़रते 📅 दिनों 🌇 का नही बल्कि, यादगार लम्हों 😘😊 का नाम 👌 है जिंदगी..

प्रत्येक असफलताओं के पीछे सफलता आपकी राह देख रही है।

हमसे खेलती रही दुनिया ताश के पत्तो की तरह, जिसने जीता उसने भी फेका जिसने हारा उसने भी फेका..

जिंदगी की परीक्षा भी कितनी वफ़ादार है, उसका पेपर भी कभी लीक नहीं होता..

फिर से मुझे मिट्टी में खेलने दे ऐ ज़िंदगी, ये साफ सुथरी ज़िंदगी मिट्टी से ज़्यादा गंदी नज़र आती है..

मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे मुझको ए ज़िन्दगी, मुझे रोज़ रोज़ तमाशा न बनाया कर..

जिंदगीमें बडी शिद्दत से निभाओ अपना किरदार, कि परदा गिरने के बाद भी तालीयाँ बजती रहे..

यहाँ से चले हैं नयी मज़िल के लिए बिता हुआ पल, एक पन्ना था जिन्दगी का अभी तो पुरा अखबार बाकी है..

“मौका” जितना छोटा ये शब्द है, उतनी ही देर के लिए ये आता है।

कोई ढूंढ लाओ उसको वापस मेरी ज़िन्दगी में, ज़िन्दगी अब साँसे नहीं उसका साथ मांग रही हैं…

हमेशा हँसते‬ रहिए, एक दिन ‎जिन्दगी‬ भी आपको परेशान‬ करते करते ‎थक‬ जाएगी..

Check More Life Stats in Hindi on Next Page »

Share on: