rain barish status in hindi

Barish Status in Hindi with Images

Check Out More Barish Status in Hindi:

काश आप जिनको चाहते हो उनसे मुलाकात हो जाये, ज़ुबान से न सही आँखों से बात हो जाये, आप का हाथ उनके हाथ में हो, और रिमझिम सी बरसात हो जाये।

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर क़तरे से आवाज तुम्हारी आती है, जब तेज हवाएं चलती है तो जान हमारी जाती है, मौसम है कातिल बारिश का और याद तुम्हारी आती है।

बादलों को आता देख के मुस्कुरा लिया होगा, कुछ न कुछ मस्ती में गुनगुना लिया होगा, ऊपर वाले का शुक्र अदा किया बारिश के होने से, के इस बहाने तुमने नहा लिया होगा।

बारिश के पानी को अपने हाथों में समेट लो, जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते है, और जितना न समेट पाए उतना हम आप को चाहते है।

पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता हैं, पलकों को छुते ही सीधा दिल पे असर होता हैं, महका महका सावन आज इस दिल को बहका रहा हैं, गुमसुम सी नजरो को आज ये प्यार करना सिखा रहा हैं. हैप्पी मानसून।

आसमान में काली घटा छायी है, आज फिर गर्लफ्रेंड ने 2 बातें सुनाई है, दिल तो करता है सुधर जाऊं मगर, बाजूवाली आज फिर भीग के आई है, हैप्पी मानसून।

बहुत दिनों से थी ये आसमान की साजिश, आज पुरी हुई उनकी ख्वाहिश, भीग लो अपनों को याद कर के, मुबारक हो आपको साल की ये पहली बारिश।

कितना अधूरा लगता है, तब जब बादल हो पर बारिश ना हो, जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो, जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो, और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो।

सभी लोग अचानक से बारीश होने के कारण आश्चर्य चकित हो चुके है, परंतु सभी को में यह बताना चाहता हूँ की, हमारे सुपर हिरो रजनीकान्त होली के लिए उनकी पिचकारी टेस्ट कर रहे हैं।

मौसम भी है सुहाना, बारिश भी हो रही है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, रिम जिम बरसती बारिश, टीम टीम टपकता पानी, ये शोर कह रहा है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, तेरी याद आ रही है।

Ye husn-e mosam, ye barish, ye hawayein, Lgta hai mohabbat ne aaj kisi ka sath diya hai

Ek gujarish hai tujhse zara ruk ke barasna, Aa jaaye jab mera mehboob to phir jamm ke barasna

Barish ki tarah tujh pe barasti rahe khushiyan.. Her boond tere dil se her ek ghum ko mita de..!!

Kbse is pyasi zameen pe barish ki ek boond tak nhi giri, Par aaj yahan toofan aayega..!!

Masum mohabbat ka bs itna sa fasana hai.. kagaz ki kashti or barish ka zamana hain..!!

Aaj phool bhi nikhre nikhre hai, aaj un me tumhara aks bhi hai, Aaj halki halki barish hai, aaj sard hawa ka raks bhi hai

Share on: