rajput status in hindi

Rajput Status in Hindi with Images

Here Are More Rajput Status in Hindi:

राजपूत बारिश का नाम नही, जो बरसे और थम जाये, ये वो सूरज न है जो चमके और डुब जाये, यह नाम है उस साँस काजो, चले तो जिंदगी और थमे तो मौत बन जाये।

सिंह का मुखोटा लगाकर कोई शेर नहीँ बनता, कुछ हुनर खून मेँ होते हे सिखाए नहीँ जाते.. होश उड़ाना शौक नही, पेशा है मेरा, क्या करें STYLE ही कुछ एसा है मेरा।

राजपूत बारिश का नाम नही, जो बरसे व थम जाये, ये वो सूरज न है जो चमके और डुब जाये, यह नाम है उस साँस का, जो चले तो जिंदगी और थमे तो मौत बन जाये।

हम बदलते है तो निज़ाम बदल जाते है, सारे मंज़र सारे अंजाम बदल जाते है, कौन कहता है राजपूत फिर से पैदा नहीं होते, पैदा होते है बस नाम बदल जाते हैं।

जब तक माथे पर लाल रंग नहीं लगता राजपूत किसी को तंग नहीं करता, सर चढ़ जाती है ये दुनिया भूल जाती है कि #राजपूत की तलवार को कभी जंग नहीं लगता।

दिल्ली का दरबार हो या GOVERNMENT की सरकार, हमको कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि हम उस राजघराने में पैदा हुए हैं, जहाँ हमारा नाम सुनकर बंदूके भी रिवर्स फायर ठोक देती हैं। 😛

चिंता को तलवार की नोक पे रखे, वोह राजपूत.. रेत की नाव लेकर समुंदर से शर्त लगाये, वोह राजपूत.. और जिसका सर कटे फिर भी धड़ दुश्मन से लड़ता रहे.. वोह है राजपूत।

वो क्या उठाएंगे तलवार, जिनके बाजू में दम नही, वो क्या चलाए गोली, जिनके सीने में जोर नही, काटते हे बेजुबान को, कभी मर्दों से लड़ कर देख, खंजर भी तेरा और टुकड़े भी तेरे।

ज़ुल्म की पहचान मिटा के रख दें राजपूत, चाहे तो कोहराम मचा के रख दें राजपूत, अभी सूखे पत्तो की तरह बिखरे है हम राजपूत, अगर हो जाये एक तो दुनिया हिला के रख दें राजपूत।

मेरा कत्ल कर दो कोई शिकवा ना होगा, मुझे धोखा दे दो कोई बदला न होगा, पर जो आँख उठी मेरे वतन ए हिन्दुस्तान पे, तो फिर तलवार उठेगी और फिर कोई समझौता न होगा।

बंगले, गाडी तो राजपूत की घर घर की कहानी हैं, तभी तो दुनिया राजपूत की दिवानी हैं, अरे मिट गये राजपूत को मिटाने वाले, क्योकि आग मे तपती राजपूत की जवानी है।

जब मन हुआ इस कातिल दुनिया पे राज करने का तो ना गोली चलेगी ना तलवार, हमारी जूत्ती के निशान देखकर लोग कहेंगे ये “राजपूताना”का साम्राज्य हैं।

हम रहे ना रहे, राजपूताना जिन्दा रहे, जिस्म ओ रूह टूटे या बिखरे जज़्बा उम्दा रहे, कोई सर झुके नहीं कोई थक कर रुके नहीं, हम चले या ना चलें, राजपुताना चलता रहे।

हर तलवार पे राजपूतों की कहानी है, तभी तो ये दुनिया राजपूतों की दीवानी है, मिट गए राजपूतों को मिटाने वाले, क्यूंकि दहकती आग मैं तपती राजपूतों की जवानी है।

शेर का मुखौटा लगाकर कोई शेर नहीं बनता, भाला उठाकर कोई राणा प्रताप नहीं बनता, रणभूमि में पता चलता है योद्धाओं का, मूछों की मरोड़ी लगाने से कोई राजपूत नहीं बनता।

Rajput na mughlo se haare the naa angrezo se.. Ye to sachai jra kadvi hai.. ki R ajput shirf Rajput se hare hai.

जब हम सिंहासन पर बैठते हैं तो, राजा कहलाते है, जब हम घोङे पर सवार होते तो, योध्दा कहलाते है, जब हम किसी की जान बचाते है तो, श्रत्रिय कहलाते है, जब हम किसी को वचन देते है तो “राजपुत” कहलाते है।

जो मच्छर से डर जाता है, उसका खून भी लाल होता है, जो शेर से लड़ जाता है, उसका खून भी लाल होता है, लेकिन एक अजब खून का, जलवा तो गजब पुत का होता है, जो मौत को भी ललकारे वो खून, राजपूत का होता है।

Share on: